May 27, 2022
मानवता की सेवा करना सबसे बडा पुण्य का कार्य – ऊर्जा मंत्री तोमर

मानवता की सेवा करना सबसे बडा पुण्य का कार्य – ऊर्जा मंत्री तोमर

महावीर भवन में नि:शुल्‍क कृत्रिम हाथ वितरण शिविर सम्‍पन्‍न

ग्‍वालियर । प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्‍न सिंह तोमर ने कहा कि मानवता की सेवा करना सबसे बडा पुण्य का कार्य है। पीड़ितों की मदद से बडा कोई और पुण्य नहीं हो सकता। श्री तोमर ने यह बात रविवार को रोटरी क्‍लब ग्‍वालियर, श्री भगवान महावीर निर्वाण महोत्‍सव न्‍यास, इण्डियन मेडिकल एसोसियेशन ग्‍वालियर एवं रोटरी क्‍लब जयपुर मैजेस्‍टी के संयुक्‍त तत्‍वाधान में अयोजित नि:शुल्‍क कृत्रिम हाथ वितरण शिविर में कही। उन्होंने कहा अन्रू संस्‍थाओं को भी मानव सेवा के लिये आंगे आकर कार्य करना चाहिए। कोरोना काल में सामाजिक संस्थाओं द्वारा की गई मानव सेवा का उन्होंने विशेष रूप से उल्लेख किया।
महावीर भवन कंपू पर आयोजित नि:शुल्‍क कृत्रिम हाथ वितरण शिविर में दैनिक भास्‍कर के स्‍थानीय सम्‍पादक धर्मेन्‍द्र भदौरिया, रोटरी क्‍लब के अध्‍यक्ष राजेन्‍द्र मल्‍होत्रा, रोटरी क्‍लब जयपुर मैजेस्‍टी के अध्‍यक्ष एसएल गंगवाल, चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स के उपाध्‍यक्ष प्रशांत गंगवाल, केट के अध्‍यक्ष भूपेन्‍द्र जैन, इण्डियन मेडिकल एसोसियेशन ग्‍वालियर की अध्‍यक्ष डॉ. प्रियम्‍बदा भसीन व कार्यक्रम संचिव प्रदीप पारासर सहित सम्‍मानीय गणमान्‍य नागरिक उपस्थित रहे।
कार्यक्रम सचिव प्रदीप पाराशर ने बताया कि जिन लोगों के हाथ कोहनी से नीचे चार से पांच इंच छोड़कर बाकी हिस्सा भंग है उन लोगों को परीक्षण के बाद हाथ लगाये गए हैं। विशेषज्ञों ने बताया कि यह कृत्रिम हाथ वैसे तकरीबन 20 हजार मूल्य से अधिक का आता है जो कि आज संभी संस्‍थाओं के संयुक्‍त प्रयास से लगभग 55 जरूरत मंदों को निशुल्क लगवाए गए। हाथ के माध्यम से लोग दैनिक जीवन की गतिविधियां जैसे पानी का गिलास उठाना, साइकिल चलाना, चाय का कप एवं खाना खाने के साथ साथ लिखने व पांच से सात किलो का वजन उठाने का कार्य भी कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *